खोजें

FUNNY JOKES

THIS BLOG IS CREATED FOR FUN AND HOW TO MAKE MONEY FROM INTERNET

श्रेणी

FUNNY

अच्छी बात ।

FB_IMG_1459963373289

 

एक अँधा लड़का सड़क के किनारे बैठा था. उसके पैरो के पास ही एक बोर्ड रखा था. जिस पर लिखा था, “मै अँधा हूँ , कृपया मेरी सहायता कीजिये.” और पास ही उसकी टोपी रखी थी जिसमे बहोत थोड़े से सिक्के पड़े थे.
एक आदमी वहा से गुजरा. उसने लड़के के टोपी में थोड़े से सिक्के देखे. उसकी नज़र बोर्ड पर पड़ी. उसने अपने जेब से कुछ सिक्के निकाले और उसकी टोपी में डाल दिए. उसने बोर्ड को उठाया और बोर्ड पर कुछ और लिखा, वापस बोर्ड को उस जगह पर रखा और अपने रस्ते चला गया, अब जब भी कोई वहा से गुजरता उसे वहा नए शब्द लिखे हुए दीखते थे.
थोड़ी देर बाद उस अंधे लड़के ने महसूस किया की उसकी टोपी सिक्कों से भर गयी है. पहले की अपेक्षा ज्यादा लोगो ने उसकी टोपी में पैसे डाले. दोपहर में वही आदमी जिसने सुबह तख्ती पर लिखे वाक्य को बदला था, ये देखने वापस आया की उसके लिखे वाक्य का क्या असर हुआ. अंधे लड़के ने उसके कदमो की आहट पहचान ली, ”आप वही है ना जिसने सुबह मेरे बोर्ड पर शायद कुछ लिखा था.” उसने पूछा, “क्या लिखा था आपने?”
उस आदमी में कहा,”मैंने भी वही सच लिखा, जो तुमने लिखा था. लेकिन एक दूसरे तरीके से.”
उसने लिखा था, “आज कितना खुबसूरत दिन है, पर मै इसे देख नहीं सकता.”
क्या आप समझते है, पहले लिखा वाक्य और बाद में लिखा वाक्य एक ही बात कह रहे थे?
निःसंदेह, दोनों ही वाक्य का अर्थ एक ही था पर पहला वाक्य ये कह रहा था की वो लड़का अँधा है और दूसरा वाक्य ये कह रहा था की उसकी अपेक्षा दूसरे लोग कितने भाग्यशाली है जो इस खुबसूरत दुनिया को देख सकते है. और यही वजह थी की दूसरा वाक्य ज्यादा प्रभावकारी साबित हुआ.
आपके पास जो है उसके लिए आभारी बनो. रचनात्मक (Creative) बनो. कुछ नया करने की कोशिश करो. अलग प्रकार से और सकारात्मक रूप से सोचो. दूसरो को ज्ञान के लिए और अच्छे के लिए आमंत्रित करो. गलतियों को माफ़ करते हुए जीवन जियें और पछतावे के बिना प्यार करें , जब जीवन आपको रोने की 100 वजह देता है तो आप उसे हंसने की 1000 वजह दीजिये. अपने भूतकाल का बिना किसी पछतावे से सामना करे. अपने वर्तमान को आत्मविश्वास के साथ संभाले. और बिना डरे भविष्य को बनाये. भरोसे को रखे और डर को फेक दे. महापुरुष कहते है, “जीवन ये मरम्मत और पुनर्निर्माण करने की सतत चलने वाली क्रिया है, जिसमे बुराई को नष्ट करे और दयालुता को बढ़ाये. जब आपको बिना डरे जीवन की यात्रा करते हो तो आपके पास अपने विवेक की टिकट होना बहोत जरुरी है. दुनिया में सबसे अच्छी चीज़ किसी व्यक्ति को हँसते हुए देखना है…. और इस से भी ज्यादा अच्छी बात उसकी हंसी के पीछे की वजह “आपका होना है”.!!!
हँसते रहिये हंसाते रहिये ।
http://www.hansmukhiji.com/2016/04/Life-is-beautiful.html?m=1

SHADI KAISE HOGI ?

1280x720-S9n
लाफ्टर की बुआ

 

जोक पढने के बाद मुझे दबाएँ ?

एक चलते फिरते युवक ने खुद की शादी के लिए शादी डॉट कॉम पर फ़ोन लगाया और फ़रमाया !
मुझे मेरी पसंद की सुंदर सुकन्या से विवाह करना है , मिलेगी क्या ?
ऑपरेटर ने कंप्यूटर खोलकर पूछा ? ” आपकी पसंद क्या – क्या होगी , सर !
युवक :- गृह कार्य में निपुण हो , खाना बढ़िया बनाए और अपने हाथों से खिलाए !
ऑपरेटर :- मिल गयी , और ??
युवक :- हंसमुख स्वभाव की हो और मज़ेदार बातें करे ?
ऑपरेटर :- ये भी मिल गयी , और ???
युवक :- जो मुझ पर विश्वास करे और खुद भी विश्वासघात न करे ?
ऑपरेटर :- और ये भी मिली , अब बस या और ?
युवक :- ( खी-खी करते हुए ) :- बस आखिरी में , ये तो बताना भूल ही गया कि वो मुझे जी भरकर प्यार करे ?
ऑपरेटर :- ( आश्चर्य से ) :- सर ! एक बात समझ में नहीं आई ??? पूछूं क्या ???
युवक :- क्यों नहीं ? आज , आपने तो मेरा दिल ही खुश कर दिया ??? पूछिए न ?
ऑपरेटर :- सर ! इतनी महंगाई के जमाने में लोगों से एक नहीं संभल रही है क्या आप इन चारों युवतियों को मैनेज कर पाएंगे ?
सुनकर युवक बेहोश है , चारपाई पर लिटाकर , चार लोग , चारबाग हॉस्पिटल ले गए हैं !

जरुर पढ़ें -> कामवाली बाई का इंटरव्यू ?

 

गणित की भड़ास

IMG_20160313_004047ऐसे ही जोक्स के लिए मुझे दबाएं ।

 

गणित विषय के स्टूडेंट्स का दर्द जो आने वाले समय में उनकी डायरियों में देखने को मिलेगा :-
( कृपया अन्यथा न लें और रचनात्मकता का मज़ा लें )

1) पता नहीं कौन सी नाव थी वो जो हमेंशा कभी धारा की दिशा में तो कभी धारा के विपरीत दिशा में चलती थी, और हमारी नैया डुबा दिया करती थी।

2) एक खास ट्रेन भी हुआ करती थी जो स्टेशन A से स्टेशन B की ओर चलती थी। मैं पूरे ग्लोब और गूगल का औचक निरीक्षण कर चुका हूँ, पर ये दोनों स्टेशन आज तक नहीं मिले। कभी-कभी एक दूसरी ट्रेन भी होती थी जो स्टेशन B से स्टेशन A की तरफ चलती थी। हालांकि ये कभी नहीं बताया गया कि दोनों स्टेशनों के बीच दो ट्रैक हैं या दोनों ट्रेनें एक ही ट्रैक पर चलती हैं। पता नहीं वो पागल आदमी कौन होता था जो साला कभी इन ट्रेनों के विपरीत दौड़ता तो कभी साथ-साथ। जो भी हो, मुझे लगता है कि मुझसे भी ज्यादा बेरोजगार रहा होगा बेचारा।

3) एक बहुत भ्रष्टाचारी दूधवाला भी हुआ करता था जिसकी खोपड़ी कुछ सटकेली थी। पहले ये भाईसाहब दो छोटे कंटेनर में एक-एक करके तीन भाग दूध और एक भाग पानी मिलाते थे… फिर इस मिश्रण को एक बड़े से कंटेनर जो आधा दूध से भरा होता था, उसमें मिला दिया करते थे। इसके बाद बड़े प्रेम से पूछते थे कि अब बताओ बेटा कुल कितना भाग दूध और कितना भाग पानी है। अबे , अपना बिजनेस सीक्रेट क्यों ओपन कर रहा है बे? जाकर मफलर बाबा के पास शिकायत कर दूंगा तो साले तेरी दुकान के आगे धरने पर बैठ जाएगा। फिर बेचते रहियो दूध…

4) और सबसे मस्त तो वो चोर होता था। ये साला पूरी दुकान लूटकर ढाई बजे भागता था और एक मोटे तोंद वाला नकारा पुलिस सिपाही पैंतालीस मिनट बाद उसे पकड़ने भागता। इस पूरे काण्ड में फायदा या तो चोर को होना था, या नहीं तो सिपाही को प्रोमोशन मिलनी थी। पर सवाल हमसे तलब किये जाते कि, “बताओ पुलिस कितने घंटे बाद चोर को पकड़ेगा?” अबे मैं क्या दरोगा हूँ जो मेरे से पूछ रिये हो। सच तो ये है कि तुम्हारा सिपाही कभी नहीं पकड़ पायेगा, क्योंकि साला चोर 120 की स्पीड में कार से भागा है और तुम्हारा सिपाही 45 मिनट बाद 12 की स्पीड में पैदल। कमबख्त मारे!

5) इसी तरह एक ठेकेदार हुआ करता था। ये सज्जन रोज 20 पुरुष, 15 महिलाएं और 10 बच्चों के खेत जुतवाया करते थे। और पूछते हमसे थे कि बताओ इसी तरह 12 पुरुष, 17 महिलायें और 8 बच्चे उसी खेत को कितने दिन में जोतेंगे। घंटा! ये कौन सी खेत है बे तुम्हारी जो आज तक जुत ही रही है। और तुमपर तो कमीने केस ठोकुंगा मैं आज। साले बाल-मजदूरी करवाते हो! महिला दिवस बीते एक सप्ताह भी नहीं हुआ, और महिलाओं पर अत्याचार शुरू!

6) एक बड़ा ही अजीबोगरीब मेन्टल भी था। कमीने के पास तीन नल थे – A, B और C. पहले वाले नल को 20 मिनट चलाता, फिर दूसरे नल को 15 मिनट तक। इसके बाद साला गजब करता। तीसरा नल जो टंकी को खाली करता था उसे चला देता। और हमसे पूछता कि बताओ टंकी कितने देर में खाली होगी! बताओ है कोई जवाब इसका। साले जब तुझे नहाना ही नहीं था तो नल क्यों खोला! पानी बर्बाद करते हो! तुम जैसे अर्धपागलों के कारण ही ग्लोबल वार्मिंग का खतरा बना हुआ है…

हँसते रहिये , जिसका दर्द वही जाने ।

 

साली छिपकली ?

images (1)

सोने से पहले की गुत्थी ?
बिस्तर पर छिपकली का दिखाई देना कोई बड़ी समस्या नहीं है ?
असल समस्या तो तब डांस करती है …..जब अचानक छिपकली गायब हो जाती है और आप ढूंढ़ते रहते हैं ? कि साली गयी कहाँ ?

भगवान बचाये ऐसी साली से ! आप सो जाइये , मुझे पता है , काटती नहीं है , बस भाग लेती है !

इस लिंक को खोलिए और हँसते रहिये !

ब्लॉगर बनिए और पैसे कमाइए ?

 

 

बाबा जी ?

facebook Baba

पत्नी , फेसबुक बाबा जी के दरबार में पहुंची और बोली :- गुरूजी , मेरे पति अब मुझसे ज्यादा मोबाइल से चैट करते हैं , कोई उपाय बताइए ???
बाबा :- उनको मेरे पास ले आओ ?
पत्नी :- कैसे ? फेसबुक और व्हाट्सएप से फुरसत ही नहीं है उनको ?
बाबा जी :- चिंता न करो फिर भी उपाय है , हर शनिवार को व्हाट्सएप का तेल लगाकर उनकी उपासना करो और रविवार को फेसबुक का फेशियल लगाकर उनसे शोपिंग करने की जिद करो ,लेकिन ये बताओ कि तुम्हारी फ्रेंड लिस्ट में तुम्हारे पति हैं या नहीं ?
पत्नी :- नहीं ! मैंने उन्हें व्हाट्सएप और फेसबुक दोनों से ब्लॉक किया है , गुरूजी !
बाबा :- बस , यहीं से कृपा रुकी हुयी है , पगली , आज ही उन्हें अनब्लॉक करो और बचे हुए पांच दिन में जब भी समय मिले , उनका चैटिंग करके दिमाग भी खाओ ?
पत्नी :- इससे क्या लाभ होगा ? गुरु जी ?
बाबा :- कुछ दिन में तुम खुद भी फेसबुक और व्हाट्सएप की इतनी एडिक्ट हो जाओगी कि समस्या ही भूल जाओगी ?
नोट :- अभी भी पत्नी का सर घूम रहा है ?
http://www.hansmukhiji.com/2016/03/fesbook-funny-joke.html

पत्नी का फ्रीडम

1512714_662498740513301_4267013849567364533_n

पत्नी बोली , हमे भी ” फ्रीडम ” चाहिए ?
पति बोला , पगली वो तो महाघोटाला बन गया ? अब क्या चाहिए ??
पत्नी बोली :- हमें ये वाली नहीं , वो वाली फ्रीडम चाहिए ?
पति बोला :- पहले क्यूँ नहीं बताया कि JNU से डिग्री ली है ? पूरी फ्रीडम दे देते ?
पत्नी बोली :- तुम्हारे दिमाग में तो फेसबुक और व्हाट्सएप के वायरस ही घुसे रहते हैं , लगता है कोई अच्छा सा एंटी – वायरस डालना पड़ेगा ? हमें किचन से एक दिन की “फ्रीडम” चाहिए ! बस !!
पति दुनिया को बनाते – बनाते , खुद खाना बना रहा है ?

मेरी वेब को नीचे लिखें से खोलिए और हँसते रहिये !!

http://www.hansmukhiji.com/2016/02/funny-hasband.html

बधाई !

Screenshot (29)

सबसे पहले मैं , आप सभी मित्रों का आभारी हूँ , आपकी ही बदोलत मेरा एडसेंस अकाउंट अप्प्रूव हुआ है ! गूगल के विज्ञापन मेरी वेब के स्क्रीन शॉट पर हैं , मैं चाहता हूँ कि आप में से ढेर सारे मित्र पहले ब्लॉग को समझें फिर ब्लॉगर बनें !
इस वर्चुअल दुनिया में रहने के लिए घर और दुकान को ब्लॉग कहते हैं ! ये घर , दुकान हमें मुफ्त में मिलती है ! फेसबुक और व्हाट्सऐप का दायरा सीमित है लेकिन ब्लॉगर एक अंतराष्ट्रीय प्लेटफार्म है ! मेरी रोज एक पोस्ट मेरे ब्लॉग पर रहेगी सिर्फ इस पोस्ट को एक बार सभी ग्रुप में शेयर कर रहा हूँ !
आज सारा विश्व मोबाइल जगत की अहमियत को समझ चुका है , फेसबुक और व्हाट्सऐप के जरिये आप कितने लोगों से जुड़ चुके हैं , अब गूगल के जरिये वर्चुअल दुनिया से जुड़ने का मौका है ! जो मित्र वास्तव में अपनी दम पर कुछ करना चाहते हैं , वे सम्मानित तरीके से पैसे भी कमा सकते हैं ! इस लिंक पर क्लिक कीजिये —> http://www.hansmukhiji.com/2016/02/blog-post77.html और अब अंत में ….. कोई ये न कहे कि भाई आपने पहले क्यूँ नहीं बताया ! हा हा हा !

http://www.hansmukhiji.com/2016/02/internet-se-paise.html

प्रेम-सप्ताह

very-very-funny-valentinee28099s-day-sms-messages

कंजूस पति या प्रेमी भी सारे दिवस मनाते हैं बस उनका हंसमुखी अंदाज़ कुछ इस प्रकार रहता है ?
बिना कुछ दिए सब डे मन गए ?? भावना को देखें ? हा हा हा !

7th February :- रोज डे !

मैं तुम्हें क्या गुलाब दूँ , तुम तो खुद ही गुलाब हो !

8th फेब्रुअरी :- प्रपोस डे !

मैं तुम्हें क्या प्रपोस करूँ ? समझदार को इशारा काफी होता है !

9th February चॉकलेट डे !

मैं तुम्हें चोकलेट देकर तुम्हारे दांत सड़ाने का पाप नहीं कर सकता ?

10th February टेडी डे !

मैं तुम्हें टेडी इसलिए नहीं लाया कि कहीं तुम भरी जवानी में बच्ची न बन जाओ ?

11th February प्रोमिश डे !

पगली , प्रोमिश तो वो करते हैं , जिन पर आपको भरोसा न हो ?

12th February हग डे !

मैं तुम्हें हग इसलिए नहीं दूंगा क्यूंकि गले उसे लगाना पड़ता है जो लाइफ में अकेला हो !

13th February किस डे !

मैं तुम्हें किस भी नहीं कर सकता क्यूंकि मैं नहीं चाहता कि तुम्हारी आँखें कभी बंद हों ?

14th February वेलेंटाइन डे !
मैं सिर्फ आज तुम्हें वेलेंटाइन क्यों मानूं , मैं तो तुम्हें हर पल वेलेंटाइन मानता हूँ !

मन गए सब दिन बिना कुछ लिए – दिए , बस ” आप ” पक गए ? हा हा हा !

http://www.hansmukhiji.com/2016/02/love-week.html

किस डे

funny-kiss-day-message-status-whatsapp65
जैसे ही पतिदेव ने बताया की आज ” किस – डे ” है , तो पत्नीजी ने किचन के अन्दर से ही हांक लगायी :- तो सबसे पहले ” किस ” दो ???
आज्ञाकारी पति किचन की तरफ लपके और बोले : – हाँ , अब बताओ क्या बोल रही थीं ???
पत्नी बोली :- फेसबुक और व्हाट्सऐप की वजह से आँखें बटन हो गयी हैं क्या ? जो इतनी सारी गाजर नहीं दिख रहीं , इन्हें ” किस ” दो और क्या ???
ऐसी मनी थी किस – डे , पिछले साल :-
इसलिए आज पतिदेव सारी गाजर अपने बेग में डाल कर ऑफिस निकल लिए हैं , शाम की बात शाम को , तब तक सस्पेंस कायम रहे !

http://www.hansmukhiji.com/2016/02/kiss-day.html

WordPress.com पर ब्लॉग.

Up ↑