वैसा ही दिन , वैसी ही रातें ,
वही फेसबुक का स्टेटस लगता है…

अभी दस दिन नहीं गुजरे हैं दोस्त ,
पर ,साल अभी से पुराना लगता है…?
शुभ रात्रि दोस्तों ??? मैं चला ……सच में !!!

http://narendradubeyhansmukhi.blogspot.com/2016/01/blog-post_58.html

Advertisements