1512714_662498740513301_4267013849567364533_n

पत्नी जी चहकते हुए बोली , मैंने भी अब घर के काम के लिए ओड – इवन फार्मूला बना दिया है !
हमने खुश होते हुए कहा :- मतलब अब से एक दिन झाड़ू पोंछा और दूसरे दिन बर्तन मांजने पड़ेंगे ?
पत्नी बोली :- नहीं ! जी , ये मैंने जो 200 पर्चियां बनायी हैं , इनमें फल और कलर के नाम हैं ! अगर इवन वाले दिन , दोनों फल और कलर की पर्ची आये तो झाड़ू पोंछा लगा लेना और ओड वाले दिन , अलग – अलग आये तो बर्तन मांजना , नहीं तो दोनों काम , मैं कर लूंगी ! बस फिर फेसबुक और व्हाट्सऐप पर चिपके रहना ?
हमने भी सोचा भगवान ऐसी पत्नी सब को दे और कभी तो काम से फुरसत मिलेगी , पर लगातार नौ दिनों से दोनों काम करना पड़ रहा था , तभी हमने अपना न्यूटन वाला दिमाग चलाया , देखा तो सारी पर्ची पर ” ऑरेन्ज ” लिखा था , जो कि फल भी है और कलर भी ! हमने हिम्मत न हारते हुए पूछा , लेकिन तुम्हें ये कॉपी – पेस्ट वाली अकल कहाँ से आई ??
पत्नी मुस्कुरा के बोली ” जहाँ से ” आप ” पत्नी की बुराई वाले जोक , अपने 200 ग्रुपों में चिपकाते हो , वहीँ से ?
अब ” आप ” भी कह लो भाभी जी अच्छा ” पकाती ” हैं !

http://narendradubeyhansmukhi.blogspot.in/2016/01/blog-post_10.html

Advertisements