pickles_book

अब ये अफवाह कौन फैला रहा है कि दिल्ली में साजन की जेब का मुरब्बा बनाने वाली पत्नियां
ओड नंबर वाले दिन एक नंबर की कमाई और इवन नंबर वाले दिन , दो नंबर की कमाई का उपयोग करेंगी !!! इसी बात पर हँसमुखी चैनल से पूर्व प्रकाशित हास्य :-
पतिदेव का मुरब्बा कैसे बनाएं:
सामग्री:
एक पति, कर्कश वाणी, व्यंगात्मक शब्द रचना, स्वाद के लिए धमकी की पत्तियां।
पकाने की विधि:
सुबह-सुबह पतिदेव के ऊपर ठण्डा पानी डालकर उन्हें जगाएं।
जब पतिदेव अच्छी तरह धुल जाएँ तब उन्हें एक दम काली, ठण्डी,
बिना शक्कर की बे-जायका चाय निगलने के लिए मजबूर करें साथ
ही साथ पतिदेव को धीमे-धीमे कर्कश वचनों की आंच में पकने
दें। जब वह थोड़े लाल-पीले होने लगें तो उन पर ससुराल की झूठी-
सच्ची मनगढंत शब्दों की व्यंगात्मक संरचना का गरम मसाला डालिए। जब
पतिदेव उबलने लगें तथा प्रेशर-कुकर की सीटी की तरह खड़खड़ाने
लगें तो चुपचाप पलंग पर लेट कर सिसकियां भरने लगिए। अब पतिदेव
को ठण्डा होने के लिए छोड़ दीजिए। आधे घंटे बाद जब दफ्तर
जाने के लिए उन्हें देर होगी तो वह खुद ही मनाने चले आएंगे। लीजिए, तैयार
हो गया पतिदेव का लजीज मुरब्बा।
अब इन्हें या तो आप फरमाइशों की चपाती के साथ चखिए या फिर आश्वासनों के
ब्रेड पर लगा कर खाइए !
वैधानिक चेतावनी: यह व्यंजन दांपत्य जीवन की खुशियों के लिए हानिकारक है !!
लेकिन ” आप ” को बनाना है तो बनाइये ???

http://narendradubeyhansmukhi.blogspot.in/2016/01/blog-post_3.html

Advertisements