माफ़ कीजिये जब टीवी खोला तो लगा कि “आप ” को एक गम्भीर बात बता कर ” दशहरा ” मनाना चाहिए ??? , कहीं जातिवाद पर बहस , कहीं पुरुष्कार लौटने की राजनीति ,,बंद कर दीजिये अपना TV थोड़ी देर तक क्यूंकि , यही न्यूज़ चैनल वालों का ” चारा ” होता है , विज्ञापनों से करोड़ों की कमाई , पेड न्यूज़ से अरबों की कमाई ,पहले दूरदर्शन पर समाचार के बीच में कोई ब्रेक नहीं होता था , अब वो भी कमाई के चक्कर में…… ? सबसे बड़ा घोटाला तो यही है जिसकी न्यूज़ कोई न्यूज़ चैनल वाला क्यूँ दिखायेगा ????? हमें कौन सुनेगा कुछ लाख फेसबुक फ्रेंड्स बस लेकिन उनके पास करोड़ों सुनने वाले हैं ,10 सर हैं , जो हर आम आदमी से पूछ रहे हैं , आपको मरते हुए कैसा महसूस हो रहा है , हँसमुखी जी , “आप “, अपने को कितना ठगा महसूस कर रहे हैं , लेकिन “आप ” का चेहरा दिखा कर खुद करोड़ों जेब में भर रहे हैं ?? केमरा परसन मेघनाथ के साथ कुम्भकरण …
“रावण” न्यूज़ ,
इस रावण को कौन सा राम मारेगा ??? मेरी बात तो आप हास्य – व्यंग में ही लेते हैं …हा.हा.हा. ..नरेन्द्र दुबे “हँसमुखी” …

Advertisements